डोमिन क्या होता है और डोमेन कितने प्रकार का होता है?

आज का विषय – डोमिन क्या होता है और डोमेन कितने प्रकार का होता है?

हेलो मैं Krishan Saini आपका हमारी वेबसाइट पर स्वागत करता हूं। आज हम बात करेंगे कि डोमिन क्या होता है और डोमेन कितने प्रकार का होता है हम आपको यह भी बताएंगे कि आप लोग डोमेन का इस्तेमाल किसके लिए कर सकते हैं। और आपके लिए कौन सा डोमेन अच्छा हो सकता है।

अगर आप डोमिन क्या होता है इसके बारे में जानते हैं तो आपके लिए बहुत अच्छा है। अगर नहीं जानते हैं कि डोमिन क्या होता है तो घबराने की कोई जरूरत नहीं है आप सही जगह पर आए हैं। हम आपको पूरी जानकारी देंगे कि डोमेन नेम क्या होता है तो चलिए बिना समय गवाएं जानते हैं कि डोमिन क्या होता है।

डोमिन क्या होता है- ( Domain Kya Hota Hai in Hindi )

चलिए जानते हैं कि डोमिन क्या होता है डोमेन नेम किसी भी वेबसाइट का पता ( IP Address ) होता है जिसकी सहायता से हम किसी भी वेबसाइट को कहीं से भी एक्सेस कर सकते हैं

डोमेन नेम DNS ( Domain Naming System ) का एक नामकरण है। डोमेन नेम की सहायता से हम किसी वेबसाइट को गूगल पर खोज सकते हैं।

एक सरल भाषा में आपको बता दें कि डोमिन क्या होता है तो जब भी आप कोई वेबसाइट गूगल में सर्च करते हैं तो आपने देखा होगा कि आपका रिजल्ट वेबसाइट ( उदाहरण के तौर पर – Domain.com.in.net ) में जरूर खुला होगा।

अब आप यह सोच रहे होंगे कि डोमिन का वेबसाइट से क्या कनेक्शन है तो हम आपको बता दें कि हम डोमेन की सहायता से ही गूगल पर अपनी वेबसाइट को चला सकते हैं

उदाहरण के तौर पर जैसे हमारा डोमेन नेम है – (https://tohindi.in/Domain-name-Kya-Hai/) – इसमें toHidni.in डोमेन नाम है

आपको बता देते हैं कि डोमेन का मुख्य रूप से इस्तेमाल वेबसाइट बनाने के लिए किया जाता है। अगर आप वेबसाइट बनाना चाहते हैं तो आपके पास एक डोमिन का होना बहुत ही जरूरी होता है

क्योंकि यह आपकी वेबसाइट का पता होता है जिससे कि आपकी वेबसाइट को कोई भी कहीं से भी एक्सेस कर सकता है।

डोमेन के प्रकार ( Domain ke Parkar in hindi ) –

डोमिन क्या होता है और डोमेन कितने प्रकार का होता है?

हमआपको डोमिन के दो ऐसे प्रकार बता रहे है जो की टॉप लेवेल डोमेन में आते हैं जिनका इस्तेमाल आप अपनी वेबसाइट बनाने के लिए कर सकते हैं। आपको बता दें कि एक Subdomain और होता है जिसके बारे में हम आपको आगे बताएंगे।

टॉप लेवेल डोमिन (TLD) –

आपको बता दें कि डोमेन नेम कई प्रकार के होते हैं जैसे कि टॉप लेवल डोमेन । इनका पता हम कैसे लगाते हैं इनका पता हम डोमेन के लास्ट में जो डॉट के बाद आता है उससे हम इनका पता लगाते हैं।

हमें .com के बाद के हिस्से को देख कर ही पता चलता है कि यह टॉप लेवल डोमेन है या फिर किसी और देश का डोमेन है। उदाहरण के तौर पर आप नीचे देख सकते हैं।

उदाहरण TLD ( टॉप लेवेल डोमिन ) जिन डोमेन नेम जिन्हें आप खरीद सकते हैं-

  • .com ( Commercial ) – व्यावसायिक
  • .org ( Organization ) – संस्था
  • .net ( Network ) – नेटवर्क
  • .gov ( Government ) – गवर्नमेंट
  • .neam ( Name )
  • .edu ( Education ) – पढ़ाई
  • .biz ( Business )
  • .info ( information ) – जानकारी

कंट्री कोड डोमेन ( CCD ) –

आपको बता दें कि यह डोमिन अलग-अलग कंट्री के लिए उपयोग में लाए जाते हैं। जैसे कि भारत में मुख्य रूप से। .in उपयोग में लाया जाता है वैसे तो। .com सभी देश के लिए अवेलेबल है।

चाहे आप किसी भी देश में रहते हैं वहां से आप अपनी वेबसाइट चलाना चाहते हैं तो आप टॉप लेवेल डोमेन ले सकते हैं लेकिन आप अगर अपने ही देश में अपनी वेबसाइट को चलाना चाहते हैं तो आप उस कंट्री का डोमेन ले सकते हैं जैसे कि इंडिया में। .in का डोमेन इंडिया के लिए चलता है।

  • .in ( India )
  • .us ( United State )
  • .ch ( Switzerland )
  • .cn ( China )
  • .ru ( Russia )
  • .br ( Barzil )

सब्डोमैन क्या होता है ( Subdomai kya Hota hai in Hindi )

आपको बता दें कि सब्डोमैन अलग से खरीदा नहीं जाता बल्कि यह आपके मेन डोमेन का ही एक अंश होता है। आपने अभी तक या तो जाने लिया को डोमेन क्या होता है।

अब आगे यह जाने कि सब्डोमैन क्या होता है सब्डोमैन एक टॉप लेवल डोमेन होता है जो कि आपके डोमेन नेम से भी जुड़ा हुआ होता है

जैसे कि हम उदाहरण के तौर पर ले English.ToHidni.in & Hindi.Tohindi.in. यह सभी डोमेन सब्डोमैन फ्री होते हैं इसके लिए आपको किसी भी प्रकार की कोई मूल्य देने की आवश्यकता नहीं होती। अब आप सब्डोमैन के बारे में तो जान ही गए होंगे।

बेस्ट डोमेन नेम कंपनी ( Best Domain Name Company in Hindi )-

वैसे तो मार्केट में बहुत सारी अच्छी डोमेन कंपनी है जो कि अच्छा डोमेन प्रोवाइड करवाती है लेकिन यह सभी कंपनी सही नहीं होती। कुछ एक डोमिन कंपनी होते हैं जो कि आपको बहुत ही सस्ता डोमिन प्रोवाइड करवाती है।

लेकिन कुछ दिनों में या तो वह डोमेन ब्लॉक हो जाता है या फिर वह कंपनी बंद हो जाती है। लेकिन घबराने की कोई बात नहीं आज हम आपको कुछ चुनिंदा कंपनी बता रहे हैं जहां से आप डोमेन नेम को खरीद सकते हैं।

  • Domain.com.
  • Bluehost. …
  • HostGator. …
  • bigrock…
  • GoDaddy
  • Namecheap. …
  • DreamHost. …
  • Shopify. …
  • BuyDomains…

सही डोमेन नेम कैसे लें ( Sahi Domain Kase Le in Hindi )-

आपने यह तो जाने ही लिया की डोमेन क्या होता है तो अगर आप एक डोमेन नेम लेना चाहते हैं तो हमारे द्वारा बताए गए कुछ बातो को ध्यान में रखें ताकि आने वाले समय में यदि आप अपनी वेबसाइट उस डोमेन पर बनाते हैं तो आपको कोई भी परेशानी नहीं होगी।

  • आपका डोमिन आपके टॉपिक्स रिलेटेड होना चाहिए।
  • यह ध्यान रखें कि आपका डोमेन छोटा होना चाहिए ताकि विजिटर को आपका डोमेन नेम याद रहे।
  • डोमेन नेम खरीदने से पहले यह चेक करने की वह डोमिन पहले से किसी वेबसाइट के रूप में तो नहीं था। क्योंकि ज्यादातर एक्सपायर डोमेन खराब होते हैं उनमें स्पेम स्कोर बहुत ज्यादा होता है।
  • डोमिन को लेने से पहले आपको यह चेक कर लेना चाहिए कि नया डोमेन यूनिक है या नहीं। वह किसी फ्रेंड का नाम तो नहीं है।
  • आपको ज्यादा से ज्यादा यह ध्यान रखना है कि आपको डोमिन की बाई एक्सटेंशन लेनी है जो कि पूरे वर्ल्ड में चले। EX – .com

हमने क्या सीखा –

मैंने आपको बताया कि डोमेन क्या होता है और डोमेन कितने प्रकार के होते हैं साथ हमने आपको यह भी पता है कि डोमेन का इस्तेमाल मुख्य रूप से किसके लिए किया जाता है।

हमने आपको पूरी जानकारी इस पोस्ट में दी है जैसा कि आप जानते हैं इस पोस्ट को पढ़ने के बाद डोमेन को वेबसाइट बनाने के लिए इस्तेमाल किया जाता है।

आप भी डोमेन की सहायता से आप अपनी एक वेबसाइट बना सकते हैं और उसमें लोगों की समस्याओं को हल करके अपने वेबसाइट में डाल सकते हैं

ताकि लोग आपकी वेबसाइट पर आएं और अपनी समस्याओं का हल निकालने। हमें आशा है कि आपको यह पोस्ट (डोमिन क्या होता है और डोमेन कितने प्रकार का होता है?) काफी पसंद आया होगा।

हमारी वेबसाइट पर आने के लिए हम आपका तहे दिल से धन्यवाद करते हैं और अधिक जानकारी या सीखने के लिए Tohindi पर विजिट करें

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *